शिक्षामित्रों को मिलेगा न्याय जल्द कार्यवाही शुरू करने के आदेश 30000 हो सकता है वेतन जांच होने के पश्चात Shikshamitra today latest news hindi - Sarkari Khabar

| Sarkari News | Sarkari Job News | Primary Ka Master News | Exam Related Updates |

Post Top Ad

रविवार, 9 अगस्त 2020

शिक्षामित्रों को मिलेगा न्याय जल्द कार्यवाही शुरू करने के आदेश 30000 हो सकता है वेतन जांच होने के पश्चात Shikshamitra today latest news hindi

69000 शिक्षक भर्ती की SIT जांच शीघ्र पूरी करने की मांग हेतु याचिका दाखिल


भारी पैमाने पर हुई है धांधली के आधार पर 69000 शिक्षक भर्ती का परिणाम रद्द करने के लिए हाईकोर्ट में याचिका


69 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा में बड़े पैमाने पर धांधली का आरोप लगाते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है। याचिका पर सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति एमसी त्रिपाठी ने प्रदेश सरकार और अन्य पक्षकारों से जवाब मांगा है। 

उमेश कुमार और दर्जनों अन्य अभ्यर्थियों की ओर से दाखिल याचिका पर बहस कर रहे अधिवक्ता सीमांत सिंह का कहना था कि शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन छह जनवरी 2019 को किया गया था। परीक्षा में व्यापक पैमाने पर धांधली की शिकायतें आई हैं। पुलिस ने कई जगह छापा मार कर लोगों को गिरफ्तार किया है। पैसे भी बरामद हुए हैं। कई सेंटर में परीक्षा दे रहे छात्रों के 150 में से 143 अंक तक आए हैं। जबकि उनके एकेडमिक रिकार्ड काफी खराब हैं। स्पष्ट है कि धांधली हुई है। 


याचिका में कहा गया है कि मामले की जांच एसटीएफ कर रही है। एसटीएफ को निर्देश दिया जाए कि वह समय सीमा के भीतर जांच पूरी करे या इस मामले की जांच किसी स्वतंत्र जांच एजेंसी को सौंपी जाए। 


उल्लेखनीय है कि 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती का मामला शुरु से ही विवादों में रहा है। इसे लेकर सुप्रीमकोर्ट में भी याचिकाएं दाखिल हैं। सुप्रीमकोर्ट ने शिक्षामित्रों के लिए लगभग 37 हजार पदों को छोड़कर शेष पर भर्ती प्रक्रिया जारी रखने का निर्देश दिया है। इस क्रम में प्रदेश सरकार ने भर्ती प्रक्रिया जारी रखी हुई है। हालांकि अभ्यर्थियों को सुप्रीमकोर्ट के अंतिम फैसले का भी इंतजार है।

 प्रयागराज : 69000 सहायक अध्यापकों की भर्ती परीक्षा में व्यापक पैमाने पर धांधली का आरोप लगाते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है। याचिका में एसआइटी जांच शीघ्र पूरा करने या स्वतंत्र एजेंसी को जांच सौंपे जाने की मांग की गयी है। कोर्ट ने राज्य सरकार से जवाब मांगा है।




यह आदेश न्यायमूíत एमसी त्रिपाठी ने उमेश कुमार व अन्य की याचिका पर दिया है। याची का कहना है कि शिक्षक भर्ती परीक्षा का आयोजन छह जनवरी 2019 को किया गया था। परीक्षा में गड़बड़ी की शिकायत पर पुलिस ने कई जगह छापा मारा और कई लोगों को गिरफ्तार किया है। लेनदेन के पैसे भी बरामद हुए हैं। कई सेंटर में परीक्षा दे रहे छात्रों के 150 में से 143 अंक तक आए हैं, जबकि उनके एकेडमिक रिकॉर्ड काफी खराब हैं। 


याचिका में कहा गया है कि मामले की जांच एसटीएफ कर रही है। उल्लेखनीय है कि 69000 सहायक अध्यापक भर्ती का मामला शुरू से ही विवादों में घिरा रहा है। इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में भी याचिकाएं दाखिल की गयी हैं। सुप्रीम कोर्ट ने शिक्षामित्रों के लिए 37 हजार पदों को छोड़कर शेष पर भर्ती प्रक्रिया जारी रखने का निर्देश दिया है। इस क्रम में प्रदेश सरकार ने भर्ती प्रक्रिया अभी जहां की तहां ठप है।

Post Top Ad