मैनपुरी जिले में कार्यरत शिक्षामित्रों को मानदेय भुगतान के लिए अब नई प्रणाली शुरू की जाएगी । शासन ने शिक्षामित्रों को पीएफएमएस (पब्लिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट सिस्टम) से मानदेय भुगतान के निर्देश दिए हैं। 

परियोजना निदेशक के निर्देश के बाद जिले में पीएफएमएस को प्रभावी बनाने का कार्य तेजी से शुरू कर दिया है । नई प्रणाली के कारण जिले के सभी 1950 शिक्षामित्रों को जुलाई के मानदेय के लिए इंतजार करना होगा। 


जिले के परिषदीय स्कूलों में कार्यरत शिक्षामित्रों को अभी तक सर्व शिक्षा अभियान के तहत मानदेय का भुगतान किया जाता था लेकिन जुलाई से उनके मानदेय के भुगतान के लिए शासन ने पीएफएमएस व्यवस्था की है। 
इस व्यवस्था के तहत शिक्षामित्रों को अपना पैन कार्ड और आधार कार्ड ब्लॉक स्तर पर संचालित विभाग के सिस्टम में फीड कराना होगा । पैन कार्ड और आधार कार्ड की फीडिंग के बाद ही शिक्षामित्रों को पीएफएमएस व्यवस्था से मानदेय भुगतान किया जा सकेगा। राज्य परियोजना निदेशक ने इस संबंध में बीएसए को पत्र भेजा है । 

खंड शिक्षाधिकारी कराएं फीडिंग 

बीएसए ने जिले के सभी खंड शिक्षाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने विकास खंड के सभी शिक्षामित्रों के पैन कार्ड और आधार कार्ड अपने सिस्टम से लिंक कराएं जिससे कि उन्हें जुलाई का मानदेय भुगतान किया जा सके । 

बीएसए विजय प्रताप सिंह ने बताया कि राज्य परियोजना निदेशक ने शिक्षामित्रों का मानदेय भुगतान पीएफएमएस से कराने के निर्देश दिए हैं । जिले में इस व्यवस्था को शुरू करने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। शीघ्र ही पैन कार्ड और आधार कार्ड की फीडिंग कराकर शिक्षामित्रों का मानदेय भुगतान कराया जाएगा

Post a Comment

Previous Post Next Post