शिक्षामित्रों के मामले पर 23 अगस्त को मुख्यमंत्री जी से हुई वार्ता, जल्द कार्यवाही शुरू करने के आदेश shikshamitra today latest news

शिक्षामित्रों के मामले पर 23 अगस्त को मुख्यमंत्री जी से हुई वार्ता बिना किसी समाधान से हो गई समाप्त?


*आज दिनांक - 23 अगस्त को मुख्यमंत्री जी से हुई वार्ता बिना किसी समाधान से हो गई समाप्त*?
========================
*जैसा कि आज दिनांक - 23 अगस्त को शिक्षामित्र शिक्षक संघ के प्रांतीय अध्यक्ष श्री अभय कुमार सिंह जी ने मुख्यमंत्री जी से उनके आवास पर अनुमति मिलने के क्रम में सायं 5:30 पर ही वार्ता करने का अवसर मिल गया था, कुल 20 मिनट तक वार्ता हुई, आज मुख्यमंत्री जी पीड़ित शिक्षामित्रो की समस्या को सुनने के बजाय अभय जी को बहुत कुछ कहा और सुप्रीम कोर्ट से

समायोजन निरस्त होने से लेकर शर्मा कमेटी बनाने तक की बात धाराप्रवाह सुनाते रहे और अंत में यह भी कह दिया कि फिलहाल अभी हमने शिक्षामित्रो की समस्या का समाधान करने के बारे कुछ भी योजना नहीं बनाई है, और न ही अभी कोई विचार किया है, उचित समय आने पर जैसी स्थिति होगी, वैसा फैसला हमारी सरकार करेगी*?
*आज का मुख्य सार यही है कि हमारे कतिपय फर्जी नेता जो कुछ फर्जी खबर पीड़ित शिक्षामित्रो का भविष्य सुरक्षित करने को लेकर लिखते रहते हैं, वह शत प्रतिशत झूठ रहत है, योगी सरकार का पीड़ित शिक्षामित्रो की पीड़ा के प्रति कोई भी अभी तक सहानुभूति नहीं है, आगे भविष्य में योगी सरकार पीड़ित शिक्षामित्रो के साथ कैसा फैसला करती है? उसे ईश्वर के अतिरिक्त सम्भवतः कोई नहीं जान सकता है*
नोट :- *उक्त वास्तविक खबर अभय कुमार सिंह जी से सीधे फोनिक वार्ता से जानकारी प्राप्त होने के पश्चात ही लिखने का साहस किया हूं*


शिक्षामित्रों के मामले पर 23 अगस्त को मुख्यमंत्री जी से हुई वार्ता बिना किसी समाधान से हो गई समाप्त?

*आज दिनांक - 23 अगस्त को मुख्यमंत्री जी से हुई वार्ता बिना किसी समाधान से हो गई समाप्त*?
========================
*जैसा कि आज दिनांक - 23 अगस्त को शिक्षामित्र शिक्षक संघ के प्रांतीय अध्यक्ष श्री अभय कुमार सिंह जी ने मुख्यमंत्री जी से उनके आवास पर अनुमति मिलने के क्रम में सायं 5:30 पर ही वार्ता करने का अवसर मिल गया था, कुल 20 मिनट तक वार्ता हुई, आज मुख्यमंत्री जी पीड़ित शिक्षामित्रो की समस्या को सुनने के बजाय अभय जी को बहुत कुछ कहा और सुप्रीम कोर्ट से

समायोजन निरस्त होने से लेकर शर्मा कमेटी बनाने तक की बात धाराप्रवाह सुनाते रहे और अंत में यह भी कह दिया कि फिलहाल अभी हमने शिक्षामित्रो की समस्या का समाधान करने के बारे कुछ भी योजना नहीं बनाई है, और न ही अभी कोई विचार किया है, उचित समय आने पर जैसी स्थिति होगी, वैसा फैसला हमारी सरकार करेगी*?
*आज का मुख्य सार यही है कि हमारे कतिपय फर्जी नेता जो कुछ फर्जी खबर पीड़ित शिक्षामित्रो का भविष्य सुरक्षित करने को लेकर लिखते रहते हैं, वह शत प्रतिशत झूठ रहत है, योगी सरकार का पीड़ित शिक्षामित्रो की पीड़ा के प्रति कोई भी अभी तक सहानुभूति नहीं है, आगे भविष्य में योगी सरकार पीड़ित शिक्षामित्रो के साथ कैसा फैसला करती है? उसे ईश्वर के अतिरिक्त सम्भवतः कोई नहीं जान सकता है*
नोट :- *उक्त वास्तविक खबर अभय कुमार सिंह जी से सीधे फोनिक वार्ता से जानकारी प्राप्त होने के पश्चात ही लिखने का साहस किया हूं*

Post a Comment

Previous Post Next Post