SHIKSHAMITRA: नई शिक्षा नीति में शिक्षामित्रों /पैराटीचर्स का भविष्य सुरक्षित:- कौशल कुमार सिंह, प्रदेश मंत्री, उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ



साथियों कल नई शिक्षा नीति के फाइनल ड्राफ्ट के संबंध में तरह-तरह की अटकलें हमारे कुछ शिक्षामित्र ज्ञानी साथियों द्वारा लगाई जा रही है जिसको लेकर समस्त शिक्षामित्र समाज मैं एक भय व्याप्त हो चुका है यह स्थितियां वाकई गंभीर हैं जबकि नई शिक्षा नीति के फाइनल ड्राफ्ट में पिछले उस पैरा को हटा दिया गया है जिसमें 2022 में पैरा टीचर्स की व्यवस्था समाप्त करने को कहा गया था ।
साथ ही प्री प्राइमरी के संबंध में स्पष्ट दिया हुआ है कि इस में कार्यरत समस्त शिक्षकों को विशेष रूप से प्रशिक्षित किया जाएगा इसका स्पष्ट मत है कार्यरत शिक्षकों/शिक्षामित्रों को ही मौका दिया जाएगा । सभी जानते हैं कि शिक्षामित्रों की नियुक्ति कक्षा 1 और 2 के लिए की गई थी ऐसे में उन्हें यदि आवश्यकता होगी तब प्री नर्सरी के लिए विशेष प्रशिक्षण देकर प्रशिक्षित किया जा सकता है ऐसे में शिक्षामित्रों की भविष्य के लिए आज की परिस्थिति में कहीं कोई संकट उत्पन्न नहीं दिख रहा है बाकी प्रदेश सरकारों के अपने विवेक पर निर्भर करेगा कि वह प्रदेशों में कार्यरत पेरा टीचरों के लिए किस व्यवस्था के तहत उनके भविष्य का रास्ता निकालते हैं।
 इसलिए परेशान ना हो समय का इंतजार करें । धन्यवाद!


कौशल कुमार सिंह
           प्रदेश मंत्री,
उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ ।

Post a Comment

Previous Post Next Post